-->

अपने भविष्य के जीवन को बचाएं (Save Your Future Life) - Parents about Children

मानव जन्म प्राप्त करना अत्यंत कठिन है - मनुष्य के अंतिम लक्ष्य को प्राप्त करने का यही एक साधन है। यदि मैं अभी इस वरदान का लाभ नहीं उठाऊंगा तो यह फिर कब आएगा किसको पता है ? शांतिदेव



Source: Healthline.com
Article: Mindful parenting

कृपया आईने में एक नज़र ले लीजिये। आप क्या देख सकते हैं? आप अपने भौतिक खोल का परावर्तित प्रकाश देख सकते हैं जो की आपके ही शरीर से होकर गुजर रहा है। आप न केवल पिछले जन्मों में अपने स्वयं के प्रयासों के कारण मानव शरीर प्राप्त करते हैं, बल्कि अपने माता-पिता के कारण भी आप इस दुनिया में मानव शरीर में जन्म लेते हैं।  इसलिए अपने माता पिता का धन्यवाद कीजिये।

बहुत समय पहले, वह (माँ ) अपनी गर्भावस्था के बारे में जानने के बाद, वह बेहद खुश थी, और शायद यह उत्साह था या भय था, पता नहीं लेकिन अब उसे आगे का इंतजार था की आगे ना जाने क्या होने वाला हैं। वह यह सोच कर चिंतित थी की गर्भावस्था के दौरान और बच्चे के जन्म के बाद वह आने वाले सभी परिवर्तनों का सामना कैसे करेगी? शायद उसे माता-पिता और पति का समर्थन प्राप्त था, और या फिर शायद यह एक कठिन दौर था, जब वह बिल्कुल अकेली थी, और यह निर्णय केवल उसी पर निर्भर करता था - निर्णय आपको जन्म देना है या नहीं। मानव शरीर में जीवन जीने का यह मौका पाने के लिए, या उन क्षेत्रों में रहने के लिए जहां अनुभव, आनंद, खुशी और जीवन ज्ञान के संचय की संभावना को महसूस करना अधिक कठिन है।

मानव जन्म प्राप्त करना बहुत कठिन है और खोना इतना आसान। हम इसे किसी भी समय खो सकते हैं, और कभी-कभी यह उन कारकों पर निर्भर करता है जिन्हें हम नियंत्रित नहीं कर सकते: प्राकृतिक आपदाएं, दुर्घटनाएं, और अहंकारियों की मनमानी... इन संभावनाओ को दूर या अनदेखा नहीं किया जा सकता है।

हमारा उद्देश्य है की सभी सैद्धांतिक बहसों को छोड़कर और मूल्य निर्णयों को सहन न करते हुए, एक ऐसी महिला का समर्थन करना जिसे अपनी अप्रत्याशित गर्भावस्था के बारे में पता चला और जिसने इस स्थिति के कारण होने वाली कठिनाइयों से शर्मिंदा होकर गर्भपात के बारे में सोचा। 

हम बस यह दिखाना चाहते हैं कि गर्भपात के दौरान क्या होगा और उसके बाद एक महिला का जीवन कैसे बदलेगा। यही कारण है कि इन पृष्ठों एवं निचे दिए गये लिंक तथा आलेख पर न केवल समस्या के लिए निदान हैं  अपितु वैज्ञानिक दृष्टिकोण भी दिया गया है। साथ ही उन लोगों का भी अनुभव है जो पहले से ही गर्भपात का अनुभव कर चुके हैं और वे अब व्यक्तिगत अनुभव के बारे में इसके बारे में बात कर सकते हैं। 


अध्याय 1: गर्भपात क्या है


अध्याय 2: गर्भपात के कर्म


अध्याय 3: गर्भपात के शारीरिक परिणाम


अध्याय 4: गर्भपात के मनोवैज्ञानिक परिणाम


अध्याय 5: रूस में गर्भपात का इतिहास


अध्याय 6: गर्भपात का उद्योग


अध्याय 7: गर्भपात प्रचार


अध्याय 8: मातृत्व की खुशी


अध्याय 9: गर्भपात की वकालत

Post a Comment

0 Comments